parshuram

parshuram

परशुराम ने राम को विष्णु धनुष लेने के लिए क्यों ललकारा?-भाग 13 

परशुराम जी का आगमन विवाह के बाद चारों नवविवाहित जोड़े अपने पिता और अन्य बरातियों के साथ अयोध्या के लिए चले। लेकिन जनकपुरी से निकलते ही राम-परशुराम की भेंट हो गई। यद्यपि अन्य कई प्रसंगों की तरह इस प्रसंग के संबंध में भी वाल्मीकि रामायण और तुलसीकृत रामचरितमानस के विवरण में कुछ अंतर है। वाल्मीकि …

परशुराम ने राम को विष्णु धनुष लेने के लिए क्यों ललकारा?-भाग 13  Read More »

ram

राम चारों भाइयों का विवाह-भाग 12

राम का विवाह धनुष पर प्रत्यंचा चढ़ाने की शर्त पूरी होने के बाद राम चारों भाइयों का विवाह पूर्ण वैदिक और लौकिक विधियों से दोनों परिवारों की उपस्थिति में सम्पन्न हुआ। यह कथा वाल्मीकि रामायण में इस प्रकार है: राम विवाह की सूचना लेकर दूत का अयोध्या जाना शिव धनुष टूटने के बाद अपनी प्रतिज्ञा …

राम चारों भाइयों का विवाह-भाग 12 Read More »

shiv_dhanush

शिव धनुष की क्या विशेषताएँ थीं, जिसे तोड़ कर राम ने सीता को पाया था?-भाग 11

वाल्मीकि कृत रामायण और तुलसीदास कृत रामचरितमानस में जनक जी के धनुष यज्ञ, राम-सीता विवाह और परशुराम-राम संवाद का जो विवरण है वह थोड़ा-सा भिन्न है। वाल्मीकि रामायण में इस धनुष के विषय में दो लोगों ने बताया है। एक, राजा जनक स्वयं विश्वामित्र और राम-लक्ष्मण को इसके विषय में बताते हैं। दूसरा, परशुराम राम …

शिव धनुष की क्या विशेषताएँ थीं, जिसे तोड़ कर राम ने सीता को पाया था?-भाग 11 Read More »

Scroll to Top