श्रीकृष्ण ने धेनुक को क्यों मारा?-भाग 16

धेनुक का अत्याचार एक दिन जब कृष्ण और बलराम अपने ग्वालसखाओं के साथ गाय चरा रहे थे, तब उनके सखा श्रीदामा, सुबल और स्तोक कृष्ण (छोटा कृष्ण) आदि ने उन्हें निकट ही स्थित एक ताड़ वन के विषय में बताया। वहाँ के ताड़ फल बहुत स्वादिष्ट होते हैं लेकिन वहाँ रहने वाले दुष्ट राक्षस धेनुक के डर …

श्रीकृष्ण ने धेनुक को क्यों मारा?-भाग 16 Read More »

राम ने जीवित रहने का आदेश किन पाँच व्यक्तियों को और क्यों दिया?-भाग 73

वाल्मीकि रामायण के उत्तरकाण्ड के अनुसार जब राम ने पृथ्वीलोक छोड़ कर अपने धाम लौटने का निर्णय किया तब उनके साथ बहुत से लोग, वानर, रीछ, राक्षस, ऋषि-मुनि, ब्राह्मण आदि ने भी अपने प्राणों का त्याग कर देने का दृढ़ निश्चय कर लिया। राम ने उन्हें समझा कर रोकना चाहा लेकिन उनकी दृढ़ भक्ति और …

राम ने जीवित रहने का आदेश किन पाँच व्यक्तियों को और क्यों दिया?-भाग 73 Read More »

श्रीकृष्ण ने गोपाल के रूप में कौन-सी लीलाएँ की?- भाग 15 

श्रीकृष्ण का गोपाल बनना अब तक कृष्ण छः वर्ष के हो चुके थे। इस उम्र को पौगंड अवस्था कहा जाता था। अतः गोप परंपरा के अनुसार उन्हें अब गाय चराने की अनुमति मिल गई। छः वर्ष से कम आयु के बालक केवल गाय के बच्चों अर्थात बछड़ो को चराया करते थे। आगे-आगे गाएँ, उनके पीछे बाँसुरी …

श्रीकृष्ण ने गोपाल के रूप में कौन-सी लीलाएँ की?- भाग 15  Read More »

श्रीकृष्ण ने गोपाल के रूप में कौन-सी लीलाएँ की?-भाग 15

श्रीकृष्ण का गोपाल बनना अब तक कृष्ण छः वर्ष के हो चुके थे। इस उम्र को पौगंड अवस्था कहा जाता था। अतः गोप परंपरा के अनुसार उन्हें अब गाय चराने की अनुमति मिल गई। छः वर्ष से कम आयु के बालक केवल गाय के बच्चों अर्थात बछड़ो को चराया करते थे। आगे-आगे गाएँ, उनके पीछे बाँसुरी …

श्रीकृष्ण ने गोपाल के रूप में कौन-सी लीलाएँ की?-भाग 15 Read More »

राम के साथ बहुत-से प्राणियों ने क्यों जलसमाधि लिया?-भाग 72

लगभग ग्यारह हजार वर्षों तक राज्य करने के बाद राम ने देखा कि उनके अवतार लेने का उद्देश्य पूर्ण हो चुका था। अतः अब उन्हें अपने धाम लौट जाना चाहिए। देवता भी अब ऐसा ही मान रहे थे। इसलिए ब्रह्मा ने उन्हें याद दिलाने के लिए काल को भेजा था। लक्ष्मण के स्वर्ग जाने के …

राम के साथ बहुत-से प्राणियों ने क्यों जलसमाधि लिया?-भाग 72 Read More »

कृष्ण ने ब्रह्माजी को ब्रह्मज्ञान कैसे दिया?-भाग 14

ब्रह्मा जी द्वारा कृष्ण की परीक्षा लेने का विचार भगवान श्रीकृष्ण जब अघासुर का वध कर बछड़ों और ग्वाल बालकों के साथ बाहर आए तब तक दिन चढ़ चुका था। बछड़ों ने जल पिया और हरी-हरी घास चरने लगे। सभी ग्वालबालों को भी भूख लगी हुई थी। सभी ग्वालबाल और श्रीकृष्ण गोलाकार पंक्ति में बैठ कर भोजन करने लगे। वे लोग …

कृष्ण ने ब्रह्माजी को ब्रह्मज्ञान कैसे दिया?-भाग 14 Read More »

राम ने लक्ष्मण का परित्याग क्यों किया था?-भाग 71

श्रीराम मर्यादा पुरुषोत्तम माने जाते हैं। एक राजा के रूप में वे इतने सफल थे कि रामराज्य आने वाले समय में राजाओं के लिए एक आदर्श बन गया। उनकी लोकप्रियता इतनी अधिक थी कि उनके साथ एक बड़े प्राणी समूह ने जल समाधि ले ली थी। वे उनके बिना जीवित नहीं रहना चाहते थे। लेकिन …

राम ने लक्ष्मण का परित्याग क्यों किया था?-भाग 71 Read More »

कृष्ण ने बकासुर और अघासुर वध क्यों किया?-भाग 13 

गोकुल से हट कर वृन्दावन में आवास बना लेने पर भी कंस के राक्षसों का उत्पात कम नहीं हुआ। बछड़ा बन कर आने वाले राक्षस को तो कृष्ण पहले ही मार चुके थे। अब बकासुर ने कृष्ण को मारने का प्रयास किया। बकासुर और अघासुर जैसे राक्षसों का वध भी श्रीकृष्ण की बाललीला के ही …

कृष्ण ने बकासुर और अघासुर वध क्यों किया?-भाग 13  Read More »

राम राज्य की क्या विशेषता थी?-भाग 70

सीता के परित्याग, विशेष रूप से उनके धरती में समा जाने के बाद राम व्यक्तिगत जीवन में मानसिक रुप से खिन्न हो गए थे। लेकिन अपने व्यक्तिगत दुख को उन्होंने कभी भी अपने राजकीय या प्रशासनिक कार्य में बाधा नहीं बनने दिया। कुश और लव को उन्होंने एक आदर्श पिता की तरह पाला। लेकिन उनका …

राम राज्य की क्या विशेषता थी?-भाग 70 Read More »

कृष्ण गोकुल छोड़ कर वृन्दावन क्यों गए?-भाग 12

श्रीकृष्ण की बाललीलाएँ मथुरा और गोकुल के बाद वृंदावन में हुई। गोकुल से वृंदावन जाने की कथा इस तरह है। वृन्दावन प्रस्थान के कारण एक दिन गोकुल में होने वाले उत्पातों पर विचार करने के लिए नंद बाबा और बड़े-बूढ़े गोप इकट्ठे हुए। विचार का विषय यह था कि महावन (गोकुल) में होने वाले उत्पातों …

कृष्ण गोकुल छोड़ कर वृन्दावन क्यों गए?-भाग 12 Read More »

Scroll to Top