सत्य सनातन

Your blog category

नन्दजी को वरुण ने क्यों कैद किया और गोपों को श्रीकृष्ण ने कैसे अपने धाम का दर्शन कराया?- भाग 25            

वरूण देव के रक्षकों द्वारा नंदजी को पकड़ लेना एक बार की बात है। नंदजी ने कार्तिक शुक्ल एकादशी का उपवास किया और भगवान की पूजा की। उसी रात में द्वादशी लगने पर स्नान के लिए यमुना जल में प्रवेश किया। इस समय अधिक रात्री थी, जो कि असुरों का समय होता है। उस समय …

नन्दजी को वरुण ने क्यों कैद किया और गोपों को श्रीकृष्ण ने कैसे अपने धाम का दर्शन कराया?- भाग 25             Read More »

श्रीकृष्ण ने गोपाल के रूप में कौन-सी लीलाएँ की?-भाग 15

श्रीकृष्ण का गोपाल बनना अब तक कृष्ण छः वर्ष के हो चुके थे। इस उम्र को पौगंड अवस्था कहा जाता था। अतः गोप परंपरा के अनुसार उन्हें अब गाय चराने की अनुमति मिल गई। छः वर्ष से कम आयु के बालक केवल गाय के बच्चों अर्थात बछड़ो को चराया करते थे। आगे-आगे गाएँ, उनके पीछे बाँसुरी …

श्रीकृष्ण ने गोपाल के रूप में कौन-सी लीलाएँ की?-भाग 15 Read More »

शिव को महादेव क्यों कहते हैं?

सभी देवों में, जिनमें ब्रह्मा और विष्णु भी शामिल हैं, केवल भगवान शंकर को ही महादेव की उपाधि मिली हुई है। पर क्यों? शिव का रूप और उनकी प्रकृति बड़ी अद्भुत और एक-दूसरे से विपरीत लगती है। वे शिव यानि कल्याणकारी हैं, आशुतोष यानि जल्दी खुश हो जाने वाले हैं, तो दूसरी तरह वे सबसे …

शिव को महादेव क्यों कहते हैं? Read More »

अवतार क्या होता है?

अभी पूरा देश राममय हो रहा है। राम विष्णु के सातवें अवतार थे। लेकिन अवतार क्या होता है? अवतार का अर्थ है ‘अवतरण लिया हुआ शरीर’। तो फिर, अवतरण क्या है? अवतरण दो शब्दों से मिल कर बनता है, ‘अव’ और ‘तरण’। ‘अव’ का अर्थ है ‘कम’ ‘नीचे’ जैसे अवमान, अवगुण। ‘तरण’ का अर्थ होता …

अवतार क्या होता है? Read More »

विवाह के समय वर वधू को क्या प्रोमिस करता है?

कन्यादान के समय लड़की का अभिभावक लड़की की तरफ से उसके होने वाले पति से सात प्रोमिस लेता है। प्रोमिस के बाद ही लड़की विवाह के लिए सहमति देती है और उसका अभिभावक लड़के को ‘पाणिग्रहण’ की अनुमति देता है। ये प्रोमिस पति-पत्नी सच में निभाए तो दाम्पत्य जीवन सुख और खुशी से भरा होगा। …

विवाह के समय वर वधू को क्या प्रोमिस करता है? Read More »

हिन्दू विवाह के आठ प्रकारों में से वर्तमान में कौन सा विवाह होता है?

आठ प्रकार के हिन्दू विवाह में से इन चारों को सबसे अधिक स्वीकृति मिली थी। लड़की के पिता या अभिभावक द्वारा किसी सुशील और विद्वान वर को बुला कर सत्कार और पूजन कर अपनी कन्या सौपना यानि ब्रह्म विवाह, दैव कार्य यानि यज्ञ कार्य में लगे पुरोहित को अपनी कन्या देना दैव विवाह, गाय और …

हिन्दू विवाह के आठ प्रकारों में से वर्तमान में कौन सा विवाह होता है? Read More »

भगवान श्रीकृष्ण ने क्या सच में ‘लड़की भगाया’ था?

किसी ने मुझ से मज़ाक में पूछा आप लीगल फील्ड से हो, अगर आज का कानून द्वापर में होता तो भगवान कृष्ण को लड़की भगाने के जुर्म में क्या सजा मिलती? इसका सिम्पल आन्सर तो यही होगा कि ‘जिसे आजकल बोलचाल में लड़की भगाना’ कहते हैं, उसे मोटे तौर पर, द्वापर में राक्षस विवाह कहते …

भगवान श्रीकृष्ण ने क्या सच में ‘लड़की भगाया’ था? Read More »

देवी सरस्वती का हाथ अभय मुद्रा में क्यों नहीं होता?

प्रत्येक भारतीय देवी देवताओं का एक प्रतीक शास्त्र होता है। चार या अधिक हाथ इसकी एक मौलिक विशेषता है जो अन्य किसी धर्म में नहीं पाया जाता है। अधिकांश देवी-देवताओं के इन चार में से एक हाथ ऊपर की तरफ होता है, जिसे अभय मुद्रा कहते हैं, और एक नीचे की तरफ जिसे वरद मुद्रा …

देवी सरस्वती का हाथ अभय मुद्रा में क्यों नहीं होता? Read More »

kya ram mans khate the

अन्नपूर्णी विवाद: क्या भगवान राम मांस खाते थे?

‘क्या भगवान राम मांस खाते थे?’ तमिल भाषा की एक फिल्म ‘अन्नपूर्णी: द गॉडेश ऑफ फूड’ ने इस विवाद को एक बार फिर सुर्खियों में ला दिया है। इस फिल्म में एक ब्राह्मण पुजारी की बेटी देश की सबसे बड़ी शेफ बनना चाहती है। लेकिन इसके लिए उसे शाकाहारी के साथ-साथ मांसाहारी डिशेस भी बनाने …

अन्नपूर्णी विवाद: क्या भगवान राम मांस खाते थे? Read More »

kya bhagwan ram mans khate the

क्या भगवान राम मांस खाते थे?

‘क्या भगवान राम मांस खाते थे?’ एक सज्जन ने मुझ से यह सवाल पूछा। कुछ और लोग भी ऐसा सोचते हैं। कुछ लोग यह भी तर्क देते हैं कि वे क्षत्रिय राजा थे। क्षत्रियों के लिए मांस भक्षण निषिद्ध नहीं था। केवल जितने दिन वे वन में रहे उतने दिन नहीं खाया क्योंकि ‘तापस वेश …

क्या भगवान राम मांस खाते थे? Read More »

Scroll to Top